इंटरनेट मीडिया पर पुलिस की खिलाफ अफवाह फैलाने के आरोप में युवक गिरफ्तार,

संवाद सूत्र, फारबिसगंज (अररिया) :- इंटरनेट मीडिया सहित फेसबुक पर गलत संदेश डालकर प्रचारित करने तथा अफवाह फैलाने के आरोप में फारबिसगंज पुलिस ने रविवार को एक युवक को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। गिरफ्तार युवक पर थानाध्यक्ष निर्मल कुमार यादवेन्दु के द्वारा प्रतिबंधित कफ सीरप सहित मादक पदार्थ का सेवन करने सहित कई गंभीर आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज की गई है। गिरफ्तार युवक का नाम मोनू ठाकुर उर्फ अजीत कुमार ठाकुर बताया गया है जो ढोलबज्जा वार्ड संख्या बारह निवासी गोविदानंद ठाकुर का पुत्र है। युवक पूर्व में भी कई बार जेल जा चुका हैं।

इस बावत स्थानीय थाना में दर्ज केस संख्या 793/21 में थानाध्यक्ष ने कहा है कि वे दो अक्टूबर को सदलबल साढ़े सात बजे संध्या गश्ती के क्रम में ढोलबज्जा की ओर जा रहे थे। जहां कालेज चौक के समीप आरोपित मोनू ठाकुर जो पूर्व के कई कांडों के आरोपित हैं, पुलिस के पास आया और सअनि परवेज अहमद से थानाध्यक्ष की शिकायत करते हुए थाना नही चलाने तथा स्वयं के केश में ठीक से काम नहीं किए जाने की बात कही। प्राथमिकी में आगे कहा गया है कि बातचीत के दरम्यान अभी तो एक – दो वीडियो वायरल किये हैं, फेसबुक पर इतनी बात लिखेंगे कि तंग आकर भाग जाना पड़ेगा सहित कई गंभीर आरोप लगाया गया है। प्राथमिकी में आरोपित के विरुद्ध विगत पांच वर्ष पुराने कांडों का जिक्र किया गया है। साथ ही आरोप पत्र समर्पित किए जाने के अलावा पूर्व में भी कई बार जेल जाने की बात कही गई है। वहीं आरोपित पर बगैर किसी बात का थाना क्षेत्र में अफवाह की बाते प्रचारित करने एवं पुलिस पदाधिकारी को काल करने पर उससे डर जाने का उल्लेख किया गया है। केस में आरोपित द्वारा फेसबुक पर गलत – गलत संदेश डालकर प्रचारित करते हुए अफवाह फैलाने का काम किए जाने की बात कही गई है। इनके गंदी हरकत से पूर्व में सांप्रदायिक समस्या उत्पन्न होने के साथ साथ कांड अंकित होने की बात की जानकारी दी गई है। वहीं दर्ज केस में प्रतिबंधित कफ सीरप कोरेक्स एवं अन्य मादक पदार्थ सेवन किए जाने का आरोप लगाया गया है। इतना ही नहीं, प्राथमिकी में थानाध्यक्ष ने आरोपित के धमकी भरे लहजे एवं देख लेने की धमकी के तहत स्वयं के विरुद्ध साजिश रचकर कोई बड़ी घटना कर सकने के स्पष्ट रूप से कहा है। थानाध्यक्ष ने पूर्व में लंबित कांडों को उठाने का दवाब डालने सहित पुलिस कर्मियों,थाना प्रभारी को देख लेने की धमकी,पुलिस के कार्य में बाधा उत्पन्न करने के बावत औपचारिक प्राथमिकी दर्ज किए जाने की बात कही। मामलें की पुष्टि करते हुए थानाध्यक्ष निर्मल कुमार यादवेंदु ने आरोपित पर संज्ञेय अपराध की पुष्टि करते हुए गिरफ्तार कर जेल भेजे जाने की बात कही है।

Edited By: Jagran