क्या आपके फोन में है वाई-फाई कॉलिंग फीचर? एंड्रॉयड और आईफोन में ऐसे करें इनेबल

अंतिम अपडेट
Oct 03, 2021, 06:13 pm

क्या आपके फोन  में है वाई-फाई कॉलिंग फीचर? एंड्रॉयड और आईफोन में ऐसे करें इनेबल
भारतीय टेलिकॉम ऑपरेटर्स वाई-फाई कॉलिंग सपोर्ट करते हैं।

अगर आपको कहीं कमजोर सेल्युलर नेटवर्क के चलते कॉलिंग में दिक्कत आ रही है तो वाई-फाई कॉलिंग फीचर मददगार साबित हो सकता है।

यह फीचर वाई-फाई कनेक्शन की मदद से सामान्य कॉल्स करने का विकल्प देता है और ज्यादातर नए डिवाइसेज में मिल रहा है।

हालांकि, वाई-फाई कॉलिंग फीचर तभी काम करता है, जब टेलिकॉम ऑपरेटर की ओर से इसका सपोर्ट दिया गया हो।

भारत में रिलायंस जियो, भारती एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया (Vi) इसे सपोर्ट करते हैं।

ऐसे काम करता है वाई-फाई कॉलिंग फीचर

नेटवर्क कनेक्टिविटी कमजोर होने का असर कॉल क्वॉलिटी पर ना पड़े, इसके लिए वाई-फाई कॉलिंग का फीचर दिया जाता है।

इस फीचर के साथ कंपैटिबल स्मार्टफोन्स यूजर के टेलिकॉम ऑपरेटर के साथ सामान्य कॉल्स के लिए वाई-फाई नेटवर्क का इस्तेमाल कर सकते हैं।

ऐसे में अगर नेटवर्क कमजोर है, तब भी अच्छी कॉल क्वॉलिटी मिल जाती है। बता दें, टेलिकॉम ऑपरेटर इस सेवा के लिए अलग से कोई चार्ज नहीं लेते।

ऐसे मौकों पर काम आता है फीचर

ऐसे मौकों पर काम आता है फीचर
वाई-फाई कॉलिंग VoIP का इस्तेमाल करती है।

वाई-फाई कॉलिंग फीचर उन क्षेत्रों में काम आता है, जहां इंटरनेट स्पीड और कनेक्टिविटी तो अच्छी है लेकिन सेल्युलर नेटवर्क कमजोर है।

अगर डिवाइस में वाई-फाई कॉलिंग फीचर इनेबल है तो ऐसी स्थिति में नेटवर्क के बजाय वाई-फाई का इस्तेमाल कॉलिंग के लिए किया जाता है।

उदाहरण के लिए अगर आप किसी बिल्डिंग के बेसमेंट में हैं, जहां वाई-फाई सिग्नल बेहतर है, तो कमजोर सेल्युलर नेटवर्क के साथ भी आराम से कॉलिंग की जा सकेगी।

बेहतर हो जाती है कॉल क्वॉलिटी

वाई-फाई कॉलिंग सुविधा के साथ कॉल ड्रॉप्स कम हो जाते हैं और क्वॉलिटी में सुधार देखने को मिलता है। यह फीचर दरअसल VoLTE (वॉइस ओवर LTE) के बजाय VoIP (वॉइस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल) इस्तेमाल करता है।

एंड्रॉयड स्मार्टफोन में ऐसे इनेबल करें फीचर

ज्यादातर नए एंड्रॉयड फोन्स वाई-फाई कॉलिंग फीचर ऑफर करते हैं।

यूजर्स अपने फोन की नेटवर्क सेटिंग्स में जाकर यह विकल्प खोज सकते हैं।

अगर आपके डिवाइस की सेटिंग्स में वाई-फाई कॉलिंग का विकल्प कहीं नहीं दिया गया, इसका मतलब है कि आपका फोन वाई-फाई कॉलिंग को सपोर्ट नहीं करता।

अलग-अलग एंड्रॉयड स्किन्स में यह फीचर अलग तरीकों से शामिल हो सकता है और कंपनियां इसे नेटवर्क या वाई-फाई सेटिंग्स का हिस्सा बना सकती हैं।

फॉलो करने होंगे आसान स्टेप्स

फॉलो करने होंगे आसान स्टेप्स
वाई-फाई कॉलिंग का विकल्प ज्यादातर नए फोन्स में मिलता है।

अपने एंड्रॉयड फोन की सेटिंग्स ओपेन करें और नेटवर्क्स, कनेक्शंस या फिर मोबाइल नेटवर्क्स सेक्शन में जाएं।

यहां आपको वाई-फाई प्रिफरेंसेज ऑप्शन मिलेगा, जिसमें एडवांस्ड पर टैप करें।

यहां वाई-फाई कॉलिंग विकल्प खोजें। सिंगल सिम होने पर उसके लिए फीचर काम करने लगेगा या फिर आप अपनी पसंद का कोई एक सिम चुन सकेंगे।

बता दें, आप किसी एक सिम कार्ड या दोनों सिम कार्ड्स के लिए यह फीचर इनेबल कर पाएंगे।

आईफोन यूजर्स ऐसे ऑन कर सकते हैं फीचर

अगर टेलिकॉम ऑपरेटर फीचर को सपोर्ट करता है तो ऐपल आईफोन मॉडल्स में आसान स्टेप्स फॉलो कर वाई-फाई कॉलिंग इनेबल की जा सकती है।

इसके लिए सेटिंग्स में जाने के बाद फोन पर टैप करना होगा।

अगर आपका टेलिकॉम ऑपरेटर वाई-फाई कॉलिंग सपोर्ट करता है तो यहां मोबाइल डाटा सेक्शन में वाई-फाई कॉलिंग का विकल्प मिल जाता है।

अब ‘वाई-फाई कॉलिंग ऑन दिस फोन’ के सामने दिख रहा टॉगल ऑन करना होगा।