छत्तीसगढ़ में यहां बंद रहेंगे स्कूल, कॉलेज और इंटरनेट सेवा… दंगे जैसे हालात, लोगों पर पथराव

Kawardha

रायपुर। छत्तीसगढ़ के कवर्धा में रविवार को हुए उपद्रव के बाद सोमवार को शहर के सभी शैक्षणिक संस्थान बंद कर दिए गए हैं। जिला प्रशासन की ओर से एक दिन की छुट्‌टी का आदेश जारी हुआ है। इस दौरान होने वाली ऑनलाइन और ऑफलाइन परीक्षाओं को भी निरस्त कर दिया गया है।

फिलहाल क्षेत्र में तनाव की स्थिति बनी हुई है। इसे देखते हुए देर रात पुलिस ने शहर में फ्लैग मार्च भी निकाला। बता दें कि जिले में पहले से ही धारा-144 लागू है। जिला कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा की ओर से जारी आदेश के अनुसार कवर्धा में संचालित सभी शासकीय-अशासकीय स्कूल, आंगनबाड़ी केंद्र, महाविद्यालय और सभी कोचिंग संस्थान 4 अक्टूबर को एक दिन के लिए पूरी तरह बंद रहेंगे।

दुर्ग यूनिवर्सिटी से जुड़े संस्थानों की ऑनलाइन परीक्षा को छूट दी गई है। उन्होंने आदेश का पालन सुनिश्चित कराने के लिए DEO, बाल विकास अधिकारी और महाविद्यालय के प्राचार्यों को आदेशित किया है।

पुलिस अफसर कार्रवाई से बचते रहे, हंगामा इस वजह से और बढ़ा।

भाजपा नेताओं का आरोप- पुलिस नहीं संभाल सकी स्थिति

उपद्रव के बाद शांति स्थापित करने के लिए पुलिस और स्थानीय नेताओं की बैठक भी बुलाई गई। इसमें IG विवेकानंद सिन्हा खुद भी मौजूद थे। ऐसी जानकारी भी आ रही है कि बैठक में आए एक भाजपा नेता का पुलिसकर्मियों से विवाद भी हो गया। आरोप लगाया कि पुलिस स्थिति को संभाल नहीं सकी। हालात पहले से संवेदनशील थे, लेकिन पुलिस इंटेलीजेंस फेल रहा।

पुलिस की मौजूदगी में युवक की पिटाई।

झंडा लगाने को लेकर शुरू हुआ था हंगामा

बता दें कि पूरा विवाद वार्ड नंबर 27 के लोहारा नाका चौक इलाके में झंडा लगाने को लेकर शुरू हुआ था। रविवार दोपहर कुछ युवकों ने अपना झंडा चौराहे पर लगा दिया। इसी बात को लेकर दो गुटों के युवक सड़क पर लाठी-डंडे लेकर उतर आए। पत्थरबाजी हुई साथ ही दो गुटों में मारपीट भी हुई। हैरत की बात यह है कि पुलिस मौके पर खड़ी थी। और उनकी आंख के सामने भीड़ एक युवक को पीटती रही। मारपीट में 8 लोग घायल हुए हैं। हालांकि शहर में अब शांति है।

सूचना मिलते ही पुलिस बल के 500 जवान वार्ड नंबर 27 में तैनात कर दिए गए। कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने मीडिया से कहा कि इस मामले के दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पिछली बार भी दो गुटों में झगड़ा हुआ था। उस मामले पर दोनों पक्षों ने समझौता भी कर लिया था।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्राम, कू और वॉट्सएप, पर