200 विकेट लेने वाला पहला ‘पेसर’, जिसकी रफ्तार ने भरा बल्लेबाजों में खौफ, क्रिकेट से पहले ही विश्व युद्ध में उतरा | On this day: Birthday of Ray Lindwall, Former Australian Fast bowler who took 200 test wickets

रे लिंडवल ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 61 टेस्ट मैच खेले, जिसमें 228 विकेट उनके खाते में आए.

ऑस्ट्रेलियाई पेसर ने अपने करियर की शुरुआत न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट मैच से की थी और भारत के खिलाफ अपने करियर का आखिरी मैच खेला.

TV9 Hindi

  • TV9 Hindi
  • Publish Date – 9:58 am, Sun, 3 October 21Edited By: साकेत शर्मा
    Follow us – google news

क्रिकेट इतिहास के सबसे मशहूर और महान तेज गेंदबाजों की लिस्ट में कई ऑस्ट्रेलियाई दिग्गजों का नाम शामिल है. इनमें से ही एक थे- रे लिंडवल (Ray Lindwal). दाएं हाथ के तेज गेंदबाज लिंडवल, ने 1940 और 1950 के दशक में क्रिकेट पिच पर अपनी रफ्तार का कहर बरपाया और बल्लेबाजों में खौफ भरा था. यहां रे लिंडवल के बारे में इसलिए बताया जा रहा है, क्योंकि आज ही के दिन ठीक 100 साल पहले उनका जन्म हुआ था. वे आज 100 साल के हो गए होते. बिल ओ राइली के चेले और कीथ मिलर के जोड़ीदार रहे रे लिंडवल ने उस दशक में ऑस्ट्रेलिया की सफलता में अपना बड़ा योगदान दिया. सिर्फ गेंद से ही नहीं, बल्कि बल्ले से भी वे उपयोगी थी.

हालांकि, लिंडवल के क्रिकेट करियर की शुरुआत इतनी आसान नहीं थी. 3 अक्टूबर 1921 को सिडनी में जन्मे लिंडवल का क्रिकेट करियर शुरू होने से पहले ही विश्व युद्ध की आग फैल चुकी थी और उन्हें भी सेना में भर्ती कर लिया गया. उनकी तैनाती साउथ पैसिफिक हिस्से पर हुई. हालांकि, वह लड़ाई का हिस्सा नहीं बने, लेकिन इस दौरान वह काफी बीमार भी पड़ गए थे. सेना में रहते हुए फिर भी उन्होंने क्रिकेट में अपना ध्यान बरकरार रखा और पेड़ों के बीच दौड़कर वह अपने गेंदबाजी रन-अप को संवारने में जुटे रहते थे और इसका फायदा टेस्ट करियर की शुरुआत के बाद मिला.

लिंडवल ने 1946 में न्यूजीलैंड के खिलाफ वेलिंग्टन टेस्ट से ऑस्ट्रेलिया के लिए अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत की थी. पहले टेस्ट में उन्हें सिर्फ 2 विकेट मिले थे. इसके बावजूद उन्हें एशेज सीरीज के लिए जगह मिली और करियर के पांचवें ही टेस्ट में सिडनी में इंग्लैंड के खिलाफ उन्होंने पारी में 7 विकेट अपने नाम कर लिए. यहां से उनकी टेस्ट टीम में जगह पक्की हो गई और जल्द ही वह ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख तेज गेंदबाज हो गए.

सबसे पहले 200 विकेट लेने वाले ‘पेसर’

लिंडवल सिर्फ नाम के तेज गेंदबाज नहीं थे, बल्कि लंबे रनअप के साथ जिस रफ्तार से उनकी गेंदें निकलती थीं, उसने कई बल्लेबाजों को घायल भी किया. बल्लेबाजों में उनकी शॉर्ट पिच गेंदों को लेकर खौफ भरने लगा था और उन्हें लगातार विकेट मिल रहे थे. यही कारण रहा कि वह टेस्ट क्रिकेट में 200 विकेट लेने वाले पहले तेज रफ्तार वाले गेंदबाज बने. उनसे पहले इंग्लैंड के एलेक बेडसर ने 200 विकेट लिए थे, लेकिन वह तेज गेंदबाज नहीं बल्कि मीडियम पेसर थे.

ऐसा रहा लिंडवल का करियर

लिंडवल ने 1946 से 1960 के बीच ऑस्ट्रेलिया के लिए 61 टेस्ट मैच खेले, जिसमें उनके खाते में 228 विकेट आए. उनका औसत23 का और स्ट्राइक रेट 59.80 का रहा. इस दौरान उन्होंने 12 बार एक पारी में 5 विकेट लेने का कमाल किया. सिर्फ गेंद से ही नहीं, बल्कि बल्ले से भी अपना कमाल दिखाया और 1502 टेस्ट रन जड़े. इसमें उन्होंने दो बार शानदार शतक और 5 अर्धशतक भी जमाए. लिंडवल का निधन 74 वर्ष की आयु में 23 जून 1996 को ऑस्ट्रेलिया के ब्रिसबेन में हुआ.

ये भी पढ़ेंः IPL 2021 Orange Cap: राहुल- धवन रह गए मुंह देखते, नंबर-1 की कुर्सी हथिया ले गया धोनी का धुरंधर