apps banned by google play store: सावधान! आपने भी तो नहीं की यह ऐप डाउनलोड… अगर हां, बड़ा नुकसान होने पहले कर दें डिलीट – google banned daily bitcoin rewards cloud based mining system app from its play store if you have this app remove it now

हाइलाइट्स

  • Google ने एक और ऐप पर लगाया बैन
  • पैसा कमाने का दावा करती थी ऐप
  • लोगों को बड़ी रकम निवेश करने के लिए लुभा रही थी

नई दिल्ली। Google ने एक ऐसी ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया है जिसे कई लोगों ने डाउनलोड किया है। यह प्रतिबंधित ऐप Google Play Store पर मौजूद थी। इस ऐप के जरिए लोग पैसे कमाने की कोशिश करते थे। लेकिन लोगों को यह पता होना चाहिए कि इंटरनेट एक बहुत ही खतरनाक जगह है जहां से उनके पैसे आसानी से ठगे जा सकते हैं। ठीक ऐसा ही यह प्रतिबंधित ऐप भी कर रहा थी। बता दें कि यह क्रिप्टोक्यूरेंसी लिंक्ड ऐप है जिसे अब Google Play Store पर प्रतिबंधित ऐप्स की सूची में डाल दिया गया है। ऐसे में अगर आपने अपने फोन में इसे डाउनलोड किया है तो इसे तुरंत फोन से डिलीट कर देना चाहिए।

Google ने इस ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया था क्योंकि इस ऐप को लेकर यह पाया गया था कि यह क्रिप्टोकुरेंसी से बड़ी रकम बनाने में दिलचस्पी रखने वाले लोगों को लुभा रही थी। क्रिप्टोकरेंसी और ब्लॉकचेन में लोगों की रुचि है, जो कि डिजिटल करेंसी के पीछे की तकनीक है। यह तब से चरम पर है जब से टेस्ला के सीईओ एलन मस्क और ट्विटर और स्क्वायर के संस्थापक जैक डोर्सी समेत टेक टाइटन्स ने सार्वजनिक रूप से इसके बारे में बात करना शुरू किया है।

एक रिपोर्ट में कहा गया है कि क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन का मूल्य दोगुना होने वाला है। बिटकॉइन की कीमत 50,000 डॉलर भी नहीं है और यह भविष्यवाणी की जा रही है कि यह बहुत जल्द 100,000 डॉलर और 175,000 डॉलर तक पहुंच जाएगा।

यह ऐप लोगों की रूचि को बढ़ाता है। इनके जरिए हैकर्स यूजर्स के लिए स्मार्टफोन पर एडवेयर और मैलवेयर से लैस ऐप्स डाउनलोड करने के लिए कहते हैं। ये हैकर्स छोटे निवेश के बदले में बड़ी रकम का वादा करते हैं। साथ ही यह भी जानना बेहद जरूरी है कि जो लोग पैसा इन्वेस्ट कर देते हैं वे अपना पैसा दोबारा देख भी नहीं पाते हैं। इस तरह के धोखाधड़ी वाली ऐप्स के कारण बड़ी संख्या में लोग अपने पैसे से वंचित हो रहे हैं।

आपको बता दें कि एक सिक्योरिटी रिसर्च फर्म ट्रेंड माइक्रो ने इस बिटकॉइन-आधारित ऐप का पता लगाया है जो एंड्रॉइड स्मार्टफोन यूजर्स को धोखा दे रही थीं। साथ ही अपने ब्लॉग पोस्ट में कहा है कि Google Play Store पर मौजूद एक एंड्रॉइड ऐप और है जो डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध है जिसे ‘डेली बिटकॉइन रिवार्ड्स – क्लाउड बेस्ड माइनिंग सिस्टम’ कहा जाता है। यह एक क्रिप्टोकुरेंसी क्लाउड माइनिंग एप्लिकेशन के तौर पर खुद को दिखाती है। इसमें यूजर्स पैसे का निवेश कर क्रिप्टोकरेंसी कमा सकते थे।

हालांकि, जब इसका एनालिसिस किया गया तो ट्रेंड माइक्रो ने पाया कि बिटकॉइन रिवार्ड्स – क्लाउड आधारित माइनिंग सिस्टम ऐप न केवल यूजर्स को विज्ञापन देखने के लिए धोखा दे रही थी और सब्सक्रिप्शन सर्विसेज के लिए भुगतान भी कर रही थी जिसका औसत मासिक शुल्क $15 (₹1,103 लगभग) है। बल्कि यह यूजर्स से बढ़ी हुई माइनिंग कैपेबिलिटीज के लिए भुगतान भी कर रही थी जिसके बदले में यूजर्स को कुछ भी प्राप्त नहीं होता। ट्रेंड माइक्रो ने Google Play Store को इसके निष्कर्षों के बारे में सूचित किया और Google ने इस ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया।

Google Play Store से ऐसे ऐप्स डाउनलोड करने से खुद को कैसे बचाएं- टॉप 5 टिप्स:

  • कभी भी ऐसी कोई ऐप डाउनलोड न करें जो वेरिफाइड न हो।
  • कंपनी के बारे में गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद डिस्क्रिप्शन को जरूर पढ़ें। यह बेहद जरूरी है।
  • कंपनी के लिट्रेचर में मौजूद कॉमन स्पेलिंग्स और व्याकरण संबंधी गलतियों की जांच जरूर करें।
  • यह भी देखें कि कंपनी की वेबसाइट है या नहीं। वहां से महत्वपूर्ण डिटेल्स को वेरिफाई करें। साथ ही यह भी जांचे कि क्या इसमें किसी व्यक्ति के बारे में बताया गया या फिर कोई कॉन्टैक्ट डिटेल है या नहीं।
  • ऐसी कोई ऐप डाउनलोड न करें जो आपको अमीर बनाने का वादा करती हो या ऐसी ऐप डाउनलोड न करें जो कहती हो कि वो आपको छोटी इन्वेस्मेंट के बदले बड़ी रकम देगी।

हालांकि, बात यहीं खत्म नहीं होती है। रिसर्च फर्म ने Google Play Store पर इस तरह की और भी कई ऐप्स होने की बात कही है। उन्होंने कहा है कि यह ध्यान रखना बेहद जरूरी है कि Google Play पर अगर क्लाउड माइनिंग कीवर्ड खोजा जाए तो हमें अभी भी एक ही तरह की ऐप्स दिख रही हैं। इनमें से कुछ ऐप्स को एक लाख से ज्यादा बार डाउनलोड भी की जा चुकी हैं। ट्रेंड माइक्रो ने कहा कि यूजर्स को अपने स्मार्टफोन में क्रिप्टोकरंसी से संबंधित कोई भी ऐप डाउनलोड करने से पहले सावधानी बरतनी चाहिए।