Bsnl: Internet Service Collapsed As Soon As The Power Cut In The City And Headquarters – बीएसएनएल : शहर और मुख्यालय की बिजली कटते ही इंटरनेट सेवा ध्वस्त

ख़बर सुनें

बीएसएनएल : शहर और मुख्यालय की बिजली कटते ही इंटरनेट सेवा ध्वस्त
– बिजली न होने से पडरौना और जनपद मुख्यालय रवींद्रनगर का एक्सचेंज भी ठप
– जेनरेटर के लिए ईंधन न मिले से होती है अक्सर यह समस्या
संवाद न्यूज एजेंसी
पडरौना। उपभोक्ताओं को आए दिन बीएसएनएल की इंटरनेट सेवा से परेशानी का सामना करना पड़ता है। सबसे अधिक परेशानी बारिश के समय होती है। जैसे ही बिजली आपूर्ति ठप होती है, पडरौना और रवींद्रनगर के एक्सचेंज भी कार्य करना बंद कर दे रहे हैं। शनिवार को सुबह से ही बिजली के साथ-साथ इंटरनेट सेवा भी ध्वस्त रही। इस वजह से बीएसएनएल के ब्रॉडबैंड, मोबाइल, लैंडलाइन और फाइबर इंटरनेट सेवा पूरे दिन फेल रही।
बीएसएनएल की पूरी इंटरनेट सेवा बिजली आपूर्ति पर निर्भर है। जब तक बिजली आपूर्ति होती रहती है, तब तक तो समस्या नहीं आती, लेकिन जैसे ही बिजली आपूर्ति कुछ घंटों के लिए ठप होती है, बीएसएनएल का इंटरनेट भी फेल हो जाता है। बताया जाता है कि जेनरेटर कभी चलता नहीं, क्योंकि ईंधन के लिए बजट नहीं मिलता। जितनी देर यूपीएस बैकअप देते हैं, उतनी ही देर इंटरनेट सेवा चल पाती है।
बीएसएनएल के फ्रेेंचाइजीधारक सर्वेश जायसवाल ने बताया कि पडरौना शहर में सरकारी और गैरसरकारी संस्थानों के अनेक उपभोक्ता हैं। इनमें 150 ब्रॉडबैंड, 24 फाइबर, 750 मोबाइल उपभोक्ता और 175 लैंडलाइन उपभोक्ता हैं।
शनिवार को सुबह से ही बिजली नहीं रही, जिसके चलते पडरौना और रवींद्रनगर एक्सचेंज फेल रहे। नतीजतन बीएसएनएल की पूरी संचार सेवा शनिवार को ध्वस्त रही। अधिकारियों के नंबर भी बीएसएनएल के होने की वजह से उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा था।

बीएसएनएल : शहर और मुख्यालय की बिजली कटते ही इंटरनेट सेवा ध्वस्त

– बिजली न होने से पडरौना और जनपद मुख्यालय रवींद्रनगर का एक्सचेंज भी ठप

– जेनरेटर के लिए ईंधन न मिले से होती है अक्सर यह समस्या

संवाद न्यूज एजेंसी

पडरौना। उपभोक्ताओं को आए दिन बीएसएनएल की इंटरनेट सेवा से परेशानी का सामना करना पड़ता है। सबसे अधिक परेशानी बारिश के समय होती है। जैसे ही बिजली आपूर्ति ठप होती है, पडरौना और रवींद्रनगर के एक्सचेंज भी कार्य करना बंद कर दे रहे हैं। शनिवार को सुबह से ही बिजली के साथ-साथ इंटरनेट सेवा भी ध्वस्त रही। इस वजह से बीएसएनएल के ब्रॉडबैंड, मोबाइल, लैंडलाइन और फाइबर इंटरनेट सेवा पूरे दिन फेल रही।

बीएसएनएल की पूरी इंटरनेट सेवा बिजली आपूर्ति पर निर्भर है। जब तक बिजली आपूर्ति होती रहती है, तब तक तो समस्या नहीं आती, लेकिन जैसे ही बिजली आपूर्ति कुछ घंटों के लिए ठप होती है, बीएसएनएल का इंटरनेट भी फेल हो जाता है। बताया जाता है कि जेनरेटर कभी चलता नहीं, क्योंकि ईंधन के लिए बजट नहीं मिलता। जितनी देर यूपीएस बैकअप देते हैं, उतनी ही देर इंटरनेट सेवा चल पाती है।

बीएसएनएल के फ्रेेंचाइजीधारक सर्वेश जायसवाल ने बताया कि पडरौना शहर में सरकारी और गैरसरकारी संस्थानों के अनेक उपभोक्ता हैं। इनमें 150 ब्रॉडबैंड, 24 फाइबर, 750 मोबाइल उपभोक्ता और 175 लैंडलाइन उपभोक्ता हैं।

शनिवार को सुबह से ही बिजली नहीं रही, जिसके चलते पडरौना और रवींद्रनगर एक्सचेंज फेल रहे। नतीजतन बीएसएनएल की पूरी संचार सेवा शनिवार को ध्वस्त रही। अधिकारियों के नंबर भी बीएसएनएल के होने की वजह से उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा था।