Ca Husband Gives Dry Rotis, Mobile Also Snatched – सीए पति देता है सूखी रोटियां, मोबाइल भी छीन लिया

ख़बर सुनें

आगरा। चार्टर्ड एकाउंटेंट पति पर पत्नी ने गंभीर आरोप लगाए हैं। पत्नी का कहना है कि पति खाने में सूखी रोटियां देता है। मायका वालों से मोबाइल बात करके नहीं बता दें, इसलिए शक में मोबाइल भी छीन लिया है। पीड़िता ने महिला थाना में शिकायत की। मामला परिवार परामर्श केंद्र में काउंसिलिंग के लिए भेजा गया है।
थाना रकागबंज क्षेत्र के एक मोहल्ले की युवती की शादी 2.5 साल पहले चार्टर्ड एकाउंटेंट से हुई थी। उनकी ससुराल थाना एत्माद्दौला क्षेत्र में है। उनकी एक बेटी है। पत्नी का आरोप है कि ससुरालियों को लगता है कि उन्हें हैसियत के हिसाब से कम दहेज मिला है। इस बात पर वो उसे ताना मारते हैं। इस पर परेशान किया जाने लगा। बेटी पैदा होने पर भी ससुरालियों के व्यवहार में परिवर्तन नहीं आया। उसका कमरा तीन मंहिला मकान में द्वितीय तल पर बना दिया।
पति सहित अन्य लोग साथ में खाना खाते हैं। मगर, उसे खाने के लिए बची हुई सूखी रोटियां दी जाती हैं। 15 दिन तक ऐसा ही कर रहे थे। मोबाइल भी छीन लिया है। मोबाइल मांगने पर कहता है कि वह मायके में ज्यादा बात करती है। आरोप है कि पति बेटी के दूध के लिए तीन हजार रुपये भी नहीं दे रहा है। मायके वालों को पता चला तो वो उसे अपने साथ ले आए। पीड़िता ने महिला थाना पुलिस से शिकायत की। मामला परिवार परामर्श केंद्र में भेजा गया है। दोनों को रविवार को काउंसिलिंग के लिए बुलाया गया है।

आगरा। चार्टर्ड एकाउंटेंट पति पर पत्नी ने गंभीर आरोप लगाए हैं। पत्नी का कहना है कि पति खाने में सूखी रोटियां देता है। मायका वालों से मोबाइल बात करके नहीं बता दें, इसलिए शक में मोबाइल भी छीन लिया है। पीड़िता ने महिला थाना में शिकायत की। मामला परिवार परामर्श केंद्र में काउंसिलिंग के लिए भेजा गया है।

थाना रकागबंज क्षेत्र के एक मोहल्ले की युवती की शादी 2.5 साल पहले चार्टर्ड एकाउंटेंट से हुई थी। उनकी ससुराल थाना एत्माद्दौला क्षेत्र में है। उनकी एक बेटी है। पत्नी का आरोप है कि ससुरालियों को लगता है कि उन्हें हैसियत के हिसाब से कम दहेज मिला है। इस बात पर वो उसे ताना मारते हैं। इस पर परेशान किया जाने लगा। बेटी पैदा होने पर भी ससुरालियों के व्यवहार में परिवर्तन नहीं आया। उसका कमरा तीन मंहिला मकान में द्वितीय तल पर बना दिया।

पति सहित अन्य लोग साथ में खाना खाते हैं। मगर, उसे खाने के लिए बची हुई सूखी रोटियां दी जाती हैं। 15 दिन तक ऐसा ही कर रहे थे। मोबाइल भी छीन लिया है। मोबाइल मांगने पर कहता है कि वह मायके में ज्यादा बात करती है। आरोप है कि पति बेटी के दूध के लिए तीन हजार रुपये भी नहीं दे रहा है। मायके वालों को पता चला तो वो उसे अपने साथ ले आए। पीड़िता ने महिला थाना पुलिस से शिकायत की। मामला परिवार परामर्श केंद्र में भेजा गया है। दोनों को रविवार को काउंसिलिंग के लिए बुलाया गया है।