career in ma english literature: English Literature: इंग्लिश लिटरेचर में ग्रेजुएशन के बाद हैं कई करियर ऑप्‍शन, ऐसे करें अप्लाई – career scope in english literature

हाइलाइट्स

  • केंद्र और राज्य सरकार के ऑफिस में आप इंग्लिश लैंग्वेज अधिकारी बन सकते है
  • मीडिया और टीचिंग फील्ड में हैं कई करियर ऑप्शन
  • यहां जानें इंग्लिश लैंग्वेज में ग्रेजुएशन के बाद कैसे बनाएं करियर

Job Opportunities In English Literature: अगर आपको इंग्लिश लैंग्वेज पसंद है और इसपर मजबूत पकड़ रखते हैं, तो आप इस लैंग्‍वेज में अपना शानदार करियर बना सकते हैं। इस लैंग्‍वेज में ग्रेजुएशन के बाद आप केंद्र और राज्य सरकार के ऑफिस में बतौर इंग्लिश लैंग्वेज अधिकारी, सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी, टीचर, ट्रांसलेटर के तौर पर कार्य कर सकते हैं। रिसर्च के लिए भी इंग्लिश बहुत ही बेहतरीन सब्जेक्ट माना जाता है। इसके अलावा सार्वजनिक क्षेत्र में यह लैंग्वेज आपको इंटरप्रेटर, ट्रांसलेटर, राइटर व एडिटर बनाने के अलावा मल्टीनेशनल कंपनियां व मीडिया में करियर बनाने का अवसर प्रदान करती हैं।

मीडिया (Media)
इंग्लिश लैंग्‍वेज स्‍पेशलिस्‍ट के लिए इस समय सबसे ज्‍यादा जॉब ऑप्शन मीडिया में है। आप इंग्लिश लिटरेचर से ग्रेजुएशन करने के बाद मीडिया में विभिन्न चैनलों, न्यूजपेपर, मैगजीन और वेबसाइट में अपना शानदार करियर बना सकते हैं। यहां पर आपको कई जॉब प्रोफाइल पर काम करने का अवसर मिलेगा। आप यहां रिपोर्टर, एडिटर, वेबसाइट कंटेंट राइटर, कॉपी राइटर, ट्रांसलेटर, स्क्रिप्ट राइटर, प्रूफ रीडर, न्‍यूज एंकर के तौर पर कार्य कर सकते हैं। इसके अलावा पब्लिक रिलेशन के फील्‍ड में आप टेक्निकल राइटिंग, एड मेकिंग, क्रिएटिव कंटेंट, कैप्शन स्लोगन राइटिंग आदि कर सकते हैं।

फिल्म जगत (Film Industry)
अगर आप इंग्लिश लैंग्‍वेज में मजबूत पकड़ रखते है और आपको शब्दों से खेलना आता है, तो आप सपनों की नगरी बॉलीवुड में भी करियर बना सकते हैं। यहां आप फिल्म प्रोडक्शन हाउस व टीवी सीरियल के साथ जुड़कर राइटर, स्क्रिप्ट राइटर या म्यूजिशियन के रूप में कार्य कर सकते हैं।
इसे भी पढ़ें: Career After 12th: बनाना चाहते हैं Aquaculture में करियर? जानें बेस्ट कोर्स

गवर्नमेंट जॉब (Government Job)
आज के समय में गवर्नमेंट जॉब पाना हर किसी का सपना होता है, वहीं अगर आप टॉप ग्रेट की गवर्नमेंट जॉब पाना चाहते हैं, तो इंग्लिश लैंग्‍वेज जरूरी हो जाता है। UPSC द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा में लैंग्‍वेज के तौर पर इंग्लिश व हिंदी दोनों विकल्प मौजूद हैं, लेकिन इसके बाद भी आगे बढ़ने के लिए इंग्लिश जरूरी हो जाता है। वहीं SSC और PSU दोनों सरकारी नौकरियों के लिए अगर आप आवेदन कर रहे हैं, तो यहां पर इंग्लिश लैंग्‍वेज जरूरी हो जाता है। सरकार की तरफ से निकलने वाली अन्य नौकरियों में भी इंग्लिश का सबसे ज्‍यादा महत्‍व है।

ट्रांसलेशन (Translation)
अगर आप इंग्लिश लैंग्‍वेज के साथ अन्‍य किसी लैंग्‍वेज में भी पकड़ रखते हैं तो बतौर ट्रांसलेटर जॉब कर सकते हैं। आज के समय में ट्रांसलेटर्स की सबसे ज्यादा डिमांड पब्लिशिंग हाउसेज में होती है, वहीं फ्रीलांसर के तौर पर भी इनकी डिमांड बढ़ रही है। इनका कार्य किसी बुक व कंटेंट को इंग्लिश में ट्रांसलेशन करना है। यहां पर प्रति शब्द या फिर बुक के मुताबिक पैसा भी अच्छा दिया जाता है। आप इसे भी अपने करियर के तौर पर चुन सकते हैं।
इसे भी पढ़ें: Trophy Hunting: मनोरंजन के लिए विश्व में किया जाता है ट्रॉफी हंटिंग, जानें भारत में क्‍या है स्थिति

टूरिज्‍म (Tourism)
इंग्लिश लैंग्‍वेज वालों के लिए टूरिज्म के क्षेत्र में शानदार करियर बनाने का मौका है। इस फील्‍ड में ऐसे लोगों की काफी डिमांड रहती है, जिन्‍हें इंग्लिश लैंग्‍वेज में महारत हासिल है। यहां उन्‍हें एक टूर गाइड, टूर ऑपरेटर के तौर पर कार्य कर सकते हैं, वहीं हॉस्पिटैलिटी के फील्‍ड में भी इनके लिए कई मौके हैं।

टीचिंग (Teaching)
इंग्लिश से बीए या बीएड करने के बाद आप स्कूलों में टीचर के तौर पर भी अपना करियर बना सकते हैं। वहीं अगर आप पीएचडी होल्डर हैं तो किसी भी कॉलेज और यूनिवर्सिटी में लेक्चरर के तौर पर नौकरी कर सकते हैं।