Ekta Sandhir is teaching about emotional connection instead of gadgets

आगरा, जागरण संवाददाता। महिला सशक्तिकरण, रिश्तों और सुखी जीवन के बारे में अपनी बेबाक राय रखने वाली सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर और सिंगर एकता संधीर फिलहाल आगरा में जेंडर इक्वेलिटी को लेकर सक्रिय हैं और अभियान चला रही हैं। टिकटॉक के जरिए अपने विचारों को लोगों तक पहुंचाने वाली एकता, टिकटॉक बैन होने के बाद इंस्टग्राम सहित तमाम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से महिला सशक्तिकरण जैसे मुद्दों पर काफी जोर देती हैं।

जागरण डॉट कॉम के साथ बातचीत में एकता ने बताया कि आगरा में शीरोज जैसे अन्य महिला सशक्तिकरण के लिए काम करने वाली संस्थाओं के साथ काम कर रही हैं और अभियान चला रही हैं। इसके लिए वे लगातार अपने सोशल मीडिया हैंडल पर क्रिएटिव शॉर्ट वीडियोज समेत कई तरह के कंटेंट पोस्ट करती हैं। उन्होंने बताया कि वह अपना कंटेंट, स्क्रिप्ट, कविताएं स्वयं लिखती है और जो कुछ भी वह अपने सोशल मीडिया हैंडल पर प्रदर्शित करती हैं, वह उनकी मूल रचना है। उनका पहला लेख 2017 में फेमिना में शरीर की सकारात्मकता के बारे में प्रकाशित हुआ था और जिसके बारे में वह काफी मुखर थीं।

एकता को उनके शॉर्ट वीडियो और मूल लेखन के लिए पहचाना जाता है। उनके लेखन ने उन्हें टिक टॉक पर 3.5 मिलियन व्‍यूअर्स तक पहुंचने में मदद की और इंस्टाग्राम पर 1.5 मिलियन लोग उन्हें फॉलो करते हैं। एकता संधीर कुछ समय तक रेडियो जॉकी भी रहीं और अपनी आवाज के माध्यम से अपने विचारों को फैलाया। पिछले दो सालों से वह डिजिटल स्पेस में हैं। एकता संधीर, अपने इंस्टाग्राम और यूट्यूब हैंडल पर अपने द्वारा बनाई गई रोमांचक और दिलचस्प कंटेंट पेश करती हैं। वह दिल के सभी मामलों और दिलचस्प विषयों के बारे में बात करती हैं, जिससे दर्शकों को फायदा हो ताकि वे एक समृद्ध और व्यक्तिगत संबंध बनाएं। चाहे वे अविवाहित हों, विवाहित हों। उनकी राय में, 2021 में प्यार एक सोशल मीडिया से जुड़ी चीज है, जो तकनीक के इर्द-गिर्द घूमती है। जहां इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स इतनी आसानी से उपलब्ध हैं कि लोग भावनात्मक रूप से जुड़ नहीं पाते।