Home sales exceed pre covid level July September 2021 bank rates sbi pnb kotak bank know how achs

नई दिल्ली. रियल एस्‍टेट सेक्‍टर (Real Estate Sector) में कीमतें स्थिर रहने (Stable Prices) और ब्‍याज दरें काफी कम (Low Interest Rates) होने के कारण जुलाई-सितंबर 2021 के दौरान मकानों की बिक्री (Home Sales) में सालाना आधार पर 92 फीसदी बढ़ोतरी दर्ज की गई है. मकानों की बिक्री में ये वृद्धि देश के प्रमुख 8 शहरों में की गई है. इसी के साथ घरों की बिक्री ने कोविड से पहले के स्‍तर (Pre-Covid Level) को भी पार कर लिया है.

असेट एडवायजर फर्म नाइट फ्रैंक इंडिया (Knight Frank India) ने अपनी रिपोर्ट ‘इंडिया रियल एस्टेट अपडेट’ में बताया है कि घरों की बिक्री बढ़कर इस दौरान 64,010 इकाई हो गई. ये आंकड़ा 2020 की इसी अवधि में 33,404 इकाई रही थी. वहीं, अप्रैल-जून 2020 तिमाही में 27,453 हाउसिंग यूनिट्स की बिक्री हुई थी. सल 2021 की तीसरी तिमाही के दौरान देश के प्रमुख आठ बाजारों में घरों की कुल बिक्री 2019 में तिमाही औसत के मुकाबले 104 फीसदी तक पहुंच गई है.

ये भी पढ़ें- Byju’s ने निवेशकों से जुटाए ₹28.50 करोड़, Paytm को पीछे छोड़ बनी देश की सबसे मूल्‍यवान प्राइवेट इंटरनेट कंपनी

सस्‍ते कर्ज से तेजी से सुधरे बाजार के हालात
नाइट फ्रैंक इंडिया के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक (CMD) शिशिर बैजल ने घरों की बिक्री में तेज सुधार के लिए स्थिर कीमतों, होम लोन पर ऐतिहासिक रूप से कम ब्याज दरों और अपना घर को लेकर ग्राहकों के बदलते रवैये को जिम्मेदार बताया है. उन्होंने कहा कि रियल एस्टेट कंपनियों के लिए वित्तीय दबाव एक अहम कारण बना हुआ है. घर खरीदारों के ग्रेड ए कंपनियों को प्राथमिकता देने और सस्ते कर्ज की उपलब्धता ने उन्हें इस सुधरते बाजार में अच्छी स्थिति में ला दिया है.

ये भी पढ़ें- Paytm IPO: विदेशी निवेशकों से 20-22 अरब डॉलर के वैल्यूएशन पर मिल रही डिमांड, जानें कब लॉन्‍च होगा पब्किल ऑफर

मुंबई में दोगुना तो दिल्‍ली में 48% बढ़ी बिक्री
बैजल के मुकाबले, बाजार में पिछले साल के उलट पूर्ण लॉकडाउन की आशंका कम होने से बाजार को फायदा हुआ है. साल 2021 की तीसरी तिमाही के आंकड़ों के अनुसार, मुंबई में घरों की बिक्री जुलाई-सितंबर की अवधि के दौरान पिछले साल की समान तिमाही की 7,635 इकाइयों से दोगुनी से ज्‍यादा बढ़कर 15,942 इकाई हो गई. वहीं, दिल्ली-एनसीआर में बिक्री 48 फीसदी बढ़कर 6,147 इकाइयों से 9,101 इकाई हो गई. इसी तरह चेन्‍नई, पुणे, बेंगलुरु, हैदराबाद, अहमदाबाद और कोलकाता में भी वृद्धि दर्ज की गई. वहीं, ऑफिस स्‍पेस के लिए लीज पर प्रॉपटी्र लेने में भी बढ़ोतरी हुई है.

ये भी पढ़ें- Diesel Prices भी पहुंचे 100 रुपये/लीटर के पार, जानें अपने शहर के लिए कैसे चेक करें दाम

2019 के 83% पर पहुंचीं ऑफिस स्‍पेस लीज
जुलाई-सितंबर 2021 में बढ़ी प्रॉपर्टी सेल्‍स में आईटी सेक्‍टर का बड़ा योगदान रहा. इस तेजी की वजह अर्थव्यवस्था का सामान्य स्थिति में लौटना और कॉरपोरेटे वर्कफोर्स का धीरे-धीरे ऑफिस लौटना है. पिछले साल इसी अवधि में कुल 47 लाख वर्ग फुट ऑफिस स्‍पेस लीज पर लिया गया था, जबकि अप्रैल-जून 2021 में यह 36 लाख वर्ग फुट था. इस तिमाही में आठ भारतीय बाजारों के कुल कार्यालय लेनदेन में सुधार हुआ है और यह 2019 के तिमाही औसत स्तर के 83 फीसदी तक पहुंच गया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.