India-nepal Border Open From Today For Indian Tourists – India-nepal Border: 17 महीने बाद खुली नेपाल सीमा, भारत सरकार ने रोक हटाई, इन नियमों का पालन जरूरी

अमर उजाला नेटवर्क, महराजगंज।
Published by: vivek shukla
Updated Sun, 03 Oct 2021 01:31 PM IST

सार

अब भारतीय नागरिक अपने मोटरसाइकिल, कार, पर्यटक वाहन के साथ नेपाल आवागमन कर सकते हैं। इस दौरान कोविड गाइडलाइन को लेकर नेपाल तथा भारत सरकार के दिशानिर्देशों का पालन करना होगा।

भारत-नेपाल सीमा।

भारत-नेपाल सीमा।
– फोटो : अमर उजाला।

ख़बर सुनें

विस्तार

बीते 17 महीने के बाद भारत-नेपाल सीमा पर्यटक वाहनों के लिए रविवार से खोल दिया गया। नेपाल ने दो दिन पहले सीमा खोल दी थी और भारत ने रविवार को खोल दिया। अब भारतीय नागरिक अपने मोटरसाइकिल, कार, पर्यटक वाहन के साथ नेपाल आवागमन कर सकते हैं। हालांकि कोविड काल में साइकिल और रिक्शा को भी आवागमन की अनुमति नहीं थी।

रविवार सुबह छह बजे जैसे ही भारतीय कार नेपाल में प्रवेश किया, नेपाली नागरिकों ने ताली बजाकर स्वागत किया। एसएसबी के सेनानायक मनोज सिंह ने बताया कि भारतीय वाहन नेपाल जाने लगे हैं। ऐसे में पर्यटकों को कोविड गाइडलाइन को लेकर नेपाल तथा भारत सरकार के दिशानिर्देशों का पालन करना होगा।

गौरतलब है कि नेपाल सरकार ने भारतीय पर्यटकों के नेपाल प्रवेश के दौरान हो रही परेशानी को देखते हुए नई गाइड लाइन जारी की है। इस दौरान भारतीय पर्यटक नेपाल की यात्रा के दौरान ही अपना बायोडाटा, कोरोना रिपोर्ट या वेक्सीनेशन की दोनों डोज की कापी अपलोड कर आसानी से नेपाल की यात्रा कर सकते हैं। सोनौली सीमा के पर्यटक ऑफिस पर एक डिक्लरेशन फार्म भर कर नेपाल में प्रवेश कर सकते हैं। नेपाल रूपनदेही के मुख्य जिला अधिकारी ऋषि राम तिवारी ने बताया कि पर्यटन मंत्रालय ने भारतीय पर्यटकों को सीमा पर प्रवेश के दौरान हो रही परेशानी को देखते हुए ऑनलाइन और ऑफलाइन डिक्लरेशन फार्म की गाइड लाइन जारी की है जिससे सीमा पर क्रासिंग के दौरान किसी को कोई परेशानी नहीं हो।

 

पर्यटन क्षेत्र से जुड़े लोगों ने जताई खुशी

नेपाल सरकार की ओर से भारतीय पर्यटकों के लिए जारी नई गाइड लाइन से पर्यटन क्षेत्र से जुड़े लोग काफी खुश हैं। होटल संघ के अध्यक्ष सीपी श्रेष्ठ ने बताया कि सीमा पर भारतीय पर्यटकों को काफी परेशानी हो रही थी। डिक्लरेशन फॉर्म भरने के बाद वह कहीं भी जा सकते हैं। उपाध्यक्ष श्रीचन्द गुप्ता ने इस फैसले का स्वागत करते हुए बताया कि कोरोना एनटीपीसीआर की रिपोर्ट या वैक्सीनेशन की दोनों डोज की एक फोटो कापी यात्री अपने पास रख लें। फार्म भरने के दौरान सरहद पर जमा करना होगा जिससे यात्रियों को काफी सुविधा होगी।