Koo gifts translation feature to users on World Translation Day – विश्व अनुवाद दिवस पर Koo ने  यूजर्स को दिया ट्रांसलेशन फीचर का तोहफा

Koo gifts translation feature to users on World Translation Day 


कू ने यूजर्स को दिया नया फीचर&nbsp

मुख्य बातें

  •  Koo, जो भारतीयों को अपनी भाषाओं में जुड़ने और बात करने में सक्षम बनाता है।
  • अब यूजर्स आठ भाषाओं में रियल टाइम अनुवाद का आनंद उठा सकते है।
  • यह अनोखा फीचर Koo के हिंदी, मराठी, कन्नड़, तमिल, असमिया, बंगाली, तेलुगु और अंग्रेजी में स्वचालित अनुवाद को सक्षम बनाता है।

देसी ट्विटर के तौर पर मशहूर  Koo, जो भारतीयों को अपनी भाषाओं में जुड़ने और बात करने में सक्षम बनाता है इस विश्व अनुवाद दिवस पर लाया है तोहफा। अब यूजर्स आठ भाषाओं में रियल टाइम अनुवाद का आनंद उठा सकते है। यह अनोखा फीचर Koo के हिंदी, मराठी, कन्नड़, तमिल, असमिया, बंगाली, तेलुगु और अंग्रेजी में स्वचालित अनुवाद को सक्षम बनाता है साथ ही साथ उनकी डिजिटल पहुंच को भी बढ़ाता है। इससे भारत की समृद्ध भाषा विविधता के बीच यूजर्स खुद को बेहतर तरीके से जाहिर कर पाएंगे और अपने विचारों को सबसे साझा कर पाएंगे। कू इस तकनीक-संचालित अनुवाद सुविधा को सक्षम करने वाला दुनिया का पहला सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है। 

एक बहुभाषी माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म के रूप में, कू ने जीवन के सभी क्षेत्रों के यूजर्स और महत्वपूर्ण हस्तियों को आकर्षित किया है जैसे  मुख्यमंत्री, राजनीतिक नेता, खेल सितारे, मशहूर हस्तियां, आध्यात्मिक गुरु।यह सभी सक्रिय रूप से मंच का लाभ उठा रहे हैं और अब नए अनुवाद फीचर से कम्युनिटी के बीच अपनी पहुंच बढ़ाने, बिना रुकावट अपने लोगों से जुड़ने और बड़े पैमाने पर दर्शकों तक पहुंचने के लिए वे इसका उपयोग कर सकेंगे। 

अपनी बहु-भाषा पेशकशों पर विचार करते हुए, कू के एक प्रवक्ता ने कहा कि भारत एक अनोखा देश है। यहां हज़ारों भाषाएं और बोलियां है। ज्यादातर प्रोडक्ट्स मानकर चलते है की यूजर्स ग्लोबल भाषा बोलते है जबकि यह भारत के लिए असत्य है। भारत को उसी की भाषा में बात करने, जुड़ने और खुद को व्यक्त करने का अवसर देने के अलावा हम अनुवाद के इस फीचर के साथ उनका यूजर अनुभव भी बेहतर बनाना चाहते है। हम यह देखने के लिए उत्साहित है की बड़े पैमाने पर लोगों के बीच अपनी पहुंच बढ़ाने के लिए प्रसिद्ध हस्तियां इसका कैसे उपयोग करती है। दुनियाभर के किसी और सोशल मीडिया  प्लेटफॉर्म ने भारतीयों के लिए कभी ऐसी पेशकश नहीं की। हम भारतीयों के लिए, भारतीयों द्वारा बनाया गया भारत का पहला प्लेटफार्म बनकर खुश हैं!

 अपने लॉन्च के केवल 16 महीनों की अवधि में, कू ने 1 करोड़ से अधिक डाउनलोड प्राप्त किए हैं, जिसमें 50% से अधिक यूजर्स सक्रिय रूप से हिंदी में कू कर रहे हैं। हम  निकट भविष्य में 10 करोड़ डाउनलोड को अपना लक्ष्य बनाकर चल रहे है। चूंकि देशी भाषाओं में अभिव्यक्ति की शक्ति बहुत अधिक है, कू अब भविष्य में 25 क्षेत्रीय भाषाओं को कवर करने के लिए अपनी भाषाओं का विस्तार करना चाहता है। इस प्रकार से एक प्लेटफॉर्म  को बढ़ावा मिलता है जहां इंटरनेट यूजर्स विविध संस्कृतियों, विचारों और धारणाओं का जश्न मना सकें।