Mobile Van Will Go To Villages To Check Water Quality – गांवों में जाकर पानी की गुणवत्ता जांचेगी मोबाइल वैन

मोबाइल वैन को हरी झंडी दिखाते कार्यकारी अभियंता।

मोबाइल वैन को हरी झंडी दिखाते कार्यकारी अभियंता।
– फोटो : Jind

ख़बर सुनें

जींद। जल जीवन मिशन के तहत जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग प्रदेशभर के जिलों में मोबाइल वैन के माध्यम से गांवों में पानी की जांच करवा रहा है। कार्यकारी अधीक्षक अभियंता संजीव कुमार ने बताया कि इसी कड़ी में जिले में पहुंची मोबाइल वैन चार अक्तूबर से 31 तक विभिन्न ग्राम पंचायतों में जाकर पानी की जांच करेगी। उन्होंने मोबाइल लैब वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
उन्होंने कहा कि पानी का हमारे जीवन में विशेष महत्व है। इसलिए इसकी गुणवत्ता काफी मायने रखती है। जल जीवन मिशन व जल शक्ति अभियान के तहत यही संदेश जिला प्रशासन व विभाग के द्वारा लगातार आमजन तक पहुंचाया जा रहा है। मोबाइल वैन में आधुनिक उपकरण हैं, जिनके द्वारा गांव में पानी की गुणवत्ता मौके पर जांची जा सकती है। जिला सलाहकार रणधीर मताना व लैब केमिष्ट विरेंद्र सिंह ने बताया कि वैन का मुख्य उद्देेश्य आमजन को पीने के पानी की गुणवत्ता के प्रति जागरूक करना है। यह एक चलती- फिरती पानी जांच करने की लैब है, जो दूर दराज के इलाकों में सबसे उपयोगी साबित होती है। इसके साथ ही महामारी व आपात काल की स्थिति पैदा होने पर यह मोबाइल वैन गांव में कुछ समय तक स्टेशन लैब के रूप में भी स्थापित की जा सकती है। उन्होंने बताया कि मौके पर ही पानी के सैंपल चेक करने से ग्रामीणों का विश्वास विभाग पर बढ़ेगा। उपमंडल अभियंता सतीश देशवाल व खंड समन्वयक दिनेश कुमार ने बताया कि यह वैन एक दिन में छह से सात गांव में जाकर पानी की जांच करेगी। जींद ब्लॉक में वैन हैबतपुर, खोखरी, बोहतवाला, दालमवाला, खुंगा, सहित 25 गांव में जाएगी। इस अवसर पर खंड समन्वयक ईश्वर लोहान, कुशल शर्मा, सुरेंद्र दुग्गल, सोमलता सैनी व सुरेंद्र मेहरा व कनिष्ठ अभियंता सागर मौजूद रहे।

जींद। जल जीवन मिशन के तहत जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग प्रदेशभर के जिलों में मोबाइल वैन के माध्यम से गांवों में पानी की जांच करवा रहा है। कार्यकारी अधीक्षक अभियंता संजीव कुमार ने बताया कि इसी कड़ी में जिले में पहुंची मोबाइल वैन चार अक्तूबर से 31 तक विभिन्न ग्राम पंचायतों में जाकर पानी की जांच करेगी। उन्होंने मोबाइल लैब वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

उन्होंने कहा कि पानी का हमारे जीवन में विशेष महत्व है। इसलिए इसकी गुणवत्ता काफी मायने रखती है। जल जीवन मिशन व जल शक्ति अभियान के तहत यही संदेश जिला प्रशासन व विभाग के द्वारा लगातार आमजन तक पहुंचाया जा रहा है। मोबाइल वैन में आधुनिक उपकरण हैं, जिनके द्वारा गांव में पानी की गुणवत्ता मौके पर जांची जा सकती है। जिला सलाहकार रणधीर मताना व लैब केमिष्ट विरेंद्र सिंह ने बताया कि वैन का मुख्य उद्देेश्य आमजन को पीने के पानी की गुणवत्ता के प्रति जागरूक करना है। यह एक चलती- फिरती पानी जांच करने की लैब है, जो दूर दराज के इलाकों में सबसे उपयोगी साबित होती है। इसके साथ ही महामारी व आपात काल की स्थिति पैदा होने पर यह मोबाइल वैन गांव में कुछ समय तक स्टेशन लैब के रूप में भी स्थापित की जा सकती है। उन्होंने बताया कि मौके पर ही पानी के सैंपल चेक करने से ग्रामीणों का विश्वास विभाग पर बढ़ेगा। उपमंडल अभियंता सतीश देशवाल व खंड समन्वयक दिनेश कुमार ने बताया कि यह वैन एक दिन में छह से सात गांव में जाकर पानी की जांच करेगी। जींद ब्लॉक में वैन हैबतपुर, खोखरी, बोहतवाला, दालमवाला, खुंगा, सहित 25 गांव में जाएगी। इस अवसर पर खंड समन्वयक ईश्वर लोहान, कुशल शर्मा, सुरेंद्र दुग्गल, सोमलता सैनी व सुरेंद्र मेहरा व कनिष्ठ अभियंता सागर मौजूद रहे।