politics started on lakhimpur kheri violence where 2 farmers lost live as priyanka gandhi will visit tomorrrow

Publish Date: | Sun, 03 Oct 2021 09:40 PM (IST)

Lakhimpur Kheri Violence: लखीमपुर खीरी में हिंसा के बाद राजनीति तेज हो गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को गोरखपुर रात्रि प्रवास के कार्यक्रम को रद्द कर दिया है और लखनऊ लौट गये हैं। सीएम खुद मामले की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। उन्होंने एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार और एसीएस देवेश चतुर्वेदी को घटनास्थल का दौरा करने और लोगों से बातचीत करने का निर्देश दिया है। उधर, विपक्ष मामले को हवा देने की तैयारी में जुट गया है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री से इस्तीफे की मांग की है। किसान नेता राकेश टिकैत भी भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारी के साथ लखीमपुर के लिए रवाना हो गए हैं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी सोमवार को लखीमपुर का दौरा करेंगी और पीड़ितों के परिजनों से मिलेंगी।

Congress General Secretary Priyanka Gandhi Vadra will visit Lakhimpur Kheri tomorrow

(File photo) pic.twitter.com/IICcAMcFHn

— ANI UP (@ANINewsUP) October 3, 2021

क्या था मामला?

मिली जानकारी के मुताबिक यूपी के लखीमपुर खीरी में, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के गांव से सात किलोमीटर पहले तिकुनिया कस्बे के बाहर प्रदर्शन कर रहे किसानों को रौंदती हुई दो कारें निकल गईं। ये किसान तिकोनिया-बनबीरपुर मार्ग पर यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के दौरे के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। इस हादसे में दो किसानों की मौत हो गई और कई किसान जख्मी हुए हैं। शाम को दो शव जिला अस्पताल लाए गए। कई और घायलों को भर्ती कराया गया है। इनमें से एक हालत गंभीर बताई जा रही है।

कैसे भड़की हिंसा?

एसयूवी गाड़ियों से किसानों के कुचले जाने के बाद हिंसा भड़क गई। नाराज प्रदर्शनकारियों ने कथित तौर पर दो गाड़ियों को जबरन रोककर उनमें आग लगा दी। उन्होंने कथित तौर पर कुछ यात्रियों की भी पिटाई की है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, किसान आंदोलन में 2 किसानों समेत 5 लोगों की मौत हो गई है। अपुष्ट खबरों के मुताबिक इस घटना में कई किसान गंभीर रूप से घायल हुए हैं। सूत्रों के मुताबिक हादसे में दो लोगों की गाड़ी से कुचलकर और तीन लोगों की गाड़ी पलटने से मौत हो गई है। इस घटना में कुछ पत्रकारों के भी घायल होने की खबर है। किसान संगठनों का आरोप है कि बीजेपी नेता के काफिले में शामिल गाड़ियां जानबूझकर किसानों पर चढ़ा दी गईं।

विपक्षी दलों और भारतीय किसान यूनियन ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है और घटना के लिए बीजेपी और गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे पर आरोप लगाया है। फिलहाल मौके पर PAC की तीन कंपनियां तैनात कर दी गई हैं और प्रशासन शांति-व्यवस्था बनाये रखने का प्रयास कर रहा है।

Posted By: Shailendra Kumar