starlink broadband in india: Elon Musk’s Starlink aims to start broadband service in India from December next year- एलन मस्क की अगुवाई वाली सैटेलाइट कंपनी स्टारलिंक को भारत में ब्रॉडबैंड इंटरनेट के लिए 5000 से ज्यादा ऑर्डर मिल चुके हैं।

हाइलाइट्स

  • ब्रॉडबैंड इंटरनेट के लिए ग्राहकों से 7,350 रुपये का शुल्क ले रही है Starlink
  • ग्राहकों को 50 मेगाबिट से 150 मेगाबिट प्रति सेकंड की इंटरनेट स्पीड प्रदान करने का वादा
  • रिलायंस जियो, भारती एयरटेल, वोडाफोन आइडिया के साथ होगी टक्कर

नई दिल्ली
एलन मस्क (Elon Musk) की अगुवाई वाली सैटेलाइट कंपनी स्टारलिंक (Starlink) को भारत में ब्रॉडबैंड इंटरनेट (Broadband Internet) के लिए 5000 से ज्यादा ऑर्डर मिल चुके हैं। कंपनी इंटरनेट सेवाएं प्रदान करने के लिए देश के दस ग्रामीण लोकसभा क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगी। कंपनी इस संबंध में ग्रामीण क्षेत्रों में बदलते जीवन में ब्रॉडबैंड इंटरनेट संपर्क के महत्व पर सांसदों, मंत्रियों और शीर्ष सरकारी अधिकारियों के साथ बातचीत भी करेगी। स्पेसएक्स की सैटेलाइट ब्रॉडबैंड इकाई का लक्ष्य सरकार की अनुमति से दो लाख सक्रिय टर्मिनलों के साथ दिसंबर 2022 से भारत में ब्रॉडबैंड सेवा शुरू करने का है।

भारत में स्टारलिंक के कंट्री निदेशक संजय भार्गव ने रविवार को कहा, ‘‘मैं अक्टूबर में सांसदों, मंत्रियों, सचिवों के साथ 30 मिनट की वर्चुअल बातचीत करने का भी इच्छुक हूं। भारत को भेजे गए 80 प्रतिशत स्टारलिंक टर्मिनलों के लिए हम संभवत दस ग्रामीण लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेंगे।’’ इससे पहले उन्होंने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में कहा था कि भारत से ऑर्डर की संख्या 5,000 को पार कर गई है और कंपनी ब्रॉडबैंड सेवाएं प्रदान करने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में काम करने की इच्छुक है।

कितना ले रही है शुल्क
कंपनी ग्राहकों से 99 डॉलर या 7,350 रुपये प्रति ग्राहक का शुल्क ले रही है। कंपनी ने ग्राहकों को 50 मेगाबिट से 150 मेगाबिट प्रति सेकंड की इंटरनेट स्पीड प्रदान करने का वादा किया है। कंपनी की सेवाएं ब्रॉडबैंड में रिलायंस जियो, भारती एयरटेल, वोडाफोन आइडिया के साथ प्रतिस्पर्धा करेंगी और इसका भारती समूह समर्थित वनवेब से सीधा मुकाबला होगा।

यह भी पढ़ें:इंद्रा नूई भी देखती हैं IPL, कौन बनेगा करोड़पति और इंडियन आइडल, आज भी दिल में बसता है भारत