Stock Market Tips: Share Market: पेपर स्टॉक में अचानक क्यों दिखने लगी है तेजी? – stock tips paper-stocks-creating-a-buzz-again-heres-why

हाइलाइट्स

  • चीन से डेकोर पेपर के आयात पर डीजीटीआर ने एंटी डंपिंग ड्यूटी लगाने का प्रस्ताव किया है।
  • डीजीटीआर ने पेपर इंपोर्ट पर 100 से लेकर $540 प्रति टन तक लेवी लगाने का सुझाव दिया है।
  • जांच की मांग आईटीसी और पदमजी पेपर जैसी कंपनियों ने की थी।

नई दिल्ली
Emami Paper: शेयर बाजार के कारोबार में गुरुवार को पेपर स्टॉक में काफी हलचल देखी गई। वास्तव में चीन से डेकोर पेपर के आयात पर डीजीटीआर ने एंटी डंपिंग ड्यूटी लगाने का प्रस्ताव किया है। इसके बाद पेपर कंपनियों के स्टॉक में खासी हलचल दर्ज की गई।

शुरुआती रिपोर्ट के मुताबिक डीजीटीआर ने पेपर इंपोर्ट पर 100 से लेकर $540 प्रति टन तक लेवी लगाने का सुझाव दिया है। इस तरह की जांच की मांग आईटीसी और पदमजी पेपर जैसी कंपनियों ने की थी। डीजीटीआर के इस सुझाव के बाद पदमजी पेपर प्रोडक्ट के शेयर 11 फ़ीसदी चढ़कर ₹44 को पार कर गए जबकि जेके पेपर के शेयर 7 फ़ीसदी की तेजी के साथ गुरुवार को ₹238 के लेवल से ऊपर पहुंच गए।

यह भी पढ़ें: Ingvar: डिस्लेक्सिया से पीड़ित इस बालक ने कैसे खड़ी कर दी दुनिया की सबसे बड़ी फर्नीचर कंपनी?

किस वजह से शेयर हुए तेज
स्वास्तिक इन्वेस्टमेंट के रिसर्च हेड संतोष मीणा ने कहा, “पेपर स्टॉक्स आज के कारोबार में तेज खुले थे। डीजीटीआर ने चीन से पेपर के आयात पर एंटी डंपिंग ड्यूटी लगाने का सुझाव दिया है और इस वजह से पेपर स्टॉक्स में तेजी देखी जा रही है।”

किस शेयर में कितनी तेजी?
तमिलनाडु न्यूजप्रिंट एंड पेपर्स, इमामी पेपर मिल्स और ओरियंट पेपर्स के शेयरों में छह फीसदी की तेजी दर्ज की गई। गुरुवार के कारोबार में तमिलनाडु न्यूज़पेपर के भाव ₹137 के पार पहुंच गए जबकि इमामी पेपर मिल के शेयरों में तेजी के बाद इसके शेयर 177 के पार जबकि ओरिएंट के शेयर ₹320 के लेवल पर पहुंच गए।

प्रॉफिट बुकिंग भी हुई
विश्लेषकों का कहना है कि पिछले कुछ समय में पेपर सेक्टर में कुछ सकारात्मक घटनाक्रम देखे गए हैं जिसकी वजह से अब पेपर स्टॉक तेजी दिखा रहे हैं। गुरुवार के कारोबार में तकरीबन सभी पेपर स्टॉक में तेजी देखी गई। शेषासाई पेपर एंड बोर्ड्स, जीनस पेपर, एनआर अग्रवाल इंडस्ट्रीज के शेयरों में भी 5 फ़ीसदी तक की तेजी दर्ज की गई। हायर लेवल पर प्रॉफिट बुकिंग की वजह से शेयरों में आई तेजी कायम नहीं रह पाई। मीणा ने कहा, “चीन में पावर शॉर्टेज की वजह से अब पेपर की कीमत बढ़ सकती है और यह भी भारत की पेपर इंडस्ट्री के लिए सकारात्मक कदम माना जा सकता है।”

यह भी पढ़ें: Success story: जॉब इंटरव्यू में 30 बार रिजेक्ट होने के बाद भी एशिया के दूसरे सबसे अमीर शख्स बने अलीबाबा के जैक मा

Green Peas Farming Business Idea: ये खेती सिर्फ 4 महीने में देती है लागत से दोगुना मुनाफा!