World Heart Day Not exercising is more dangerous than cigarettes and sugar avoid heart disease like this

पटना, जागरण संवाददाता। World Heart Day: सीने में बाईं ओर दर्द, बाएं हाथ में झुनझुनी, बिना काम थकावट, सांस फूलना, पसीना आना, घबराहट, चक्कर आना, जोड़ों में दर्द की जगह बदलना जैसे लक्षण हों तो इन्हें हल्के में न लें। तुरंत इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान (Indira Gandhi Institute of Cardiology) की ओपीडी में आएं, यह हृदयाघात का लक्षण हो सकता है। ओपीडी में बीपी, ईसीजी, खून की जरूरी जांच और टीएमटी कराकर यह देखा जाता है कि कहीं हार्टअटैक तो नहीं आया है। बहुत से लोग सीने में दर्द व अन्य समस्याओं को गैस आदि मानकर डाक्टर के पास नहीं जाते, कई बार इसके गंभीर परिणाम होते हैं। ये बातें बुधवार को विश्‍व हृदय दिवस के अवसर संस्थान में आयोजित जागरूकता कार्यक्रम में निदेशक डा. सुनील कुमार ने कहीं। इस दौरान डा. अनिल ठाकुर, डा. अनूप सिंह, डा. नसर अब्दाली आदि ने हृदय रोग संबंधी कई महत्वपूर्ण जानकारियां देने के साथ ओपीडी में आए रोगियों व भर्ती मरीजों के स्वजन की शंकाओं का समाधान भी किया। 

जन्मजात हृदय रोग की निश्शुल्क सर्जरी से गरीबों को राहत

संस्थान के उपनिदेशक डा. बीरेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि प्रति हजार करीब दस बच्चे जन्मजात हृदय रोग पीडि़त होते हैं। इसे पूरी तरह से खत्म नहीं किया जा सकता। अब तक मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना के तहत 172 बच्चों की ओपेन हार्ट सर्जरी कराई जा चुकी है। 

हृदय रोग से बचाव के मंत्र

  • 30 से 35 वर्ष के लोगों को हृदयाघात से बचाने के लिए हाइपरटेंशन, शुगर व लिपिड प्रोफाइल नियंत्रण के साथ नियमित व्यायाम के अलावा सिगरेट-शराब से दूरी जरूरी। 
  • फल-सब्जी के अधिक सेवन से कम होती आशंका। 
  • 46 फीसद तक हार्ट फेल्योर की आशंका कम करती है हर दिन 40 ग्राम दाल जैसे प्लांट प्रोटीन ।
  • प्रोसेस्ड मांस जैसे नानवेज बर्गर-पिज्जा या प्रासेस्ड कार्बोहाइड्रेट जैसे चिप्स-बिस्किट आदि से खतरा। 
  • नियमित 45 मिनट नहीं टहलने वालों को हार्ट अटैक का पांच गुना अधिक खतरा। 
  • सिगरेट व मधुमेह से अधिक खतरनाक है व्यायाम नहीं करना। 
  • परिवार में हार्ट अटैक की हिस्ट्री हो तो 30 वर्ष के बाद नियमित स्क्रीनिंग जरूर कराएं। 
  • मधुमेह और हृदय रोग का भाई, बहन जैसा, ऐसे में डायबिटिक रोगी रखें खास ख्याल।